BREAKING NEWS -
Search




अमेरिका ने बढ़ाई पाक की मुश्किलें,आतंक के खिलाफ फंड देने पर रखी कठोर शर्तें

अमेरिकी की तरफ से पाकिस्तान को मिलने वाले आतंक के खिलाफ फंड पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। खबरों के अनुसार यूएस हाउस प्रतिनिधियों ने पाकिस्तान को मिलने वाली डिफेंस फंडिंग को लेकर और कठोर शर्त लगाने वाले संशोधनों को लिए वोट किया है।अमेरिका ने बढ़ाई पाक की मुश्किलें,आतंक के खिलाफ फंड देने पर रखी कठोर शर्तें।

अमेरिका ने बढ़ाई पाक की मुश्किलें,आतंक के खिलाफ फंड देने पर रखी कठोर शर्तें

अमेरिकी कांग्रेस ने आतंक के खिलाफ पाकिस्तान को दिए जाने वाले फंड पर रोक लगा दी है। इसके बाद अमेरिकी रक्षा मंत्री को यह प्रमाणित करना पड़ेगा कि पाक आतंकवादी कार्रवाई के रूप में किसी भी व्यक्ति को सैन्य या वित्तीय सहायता प्रदान नहीं कर रहा है।

हालांकि, पाकिस्तान पर वर्तमान सीमाएं केवल आतंकवादी समूह हक्कानी नेटवर्क पर लागू होती हैं। लेकिन अमेरिकी कांग्रेस ने 2017 के लिए नए प्रतिबंध लागू किए जिसमें भारत के लिए सुरक्षा सहयोग बढ़ाने पर जोर दिया गया है। रिपब्लिकन कांग्रेसी टेड पो द्वारा पाक संशोधनों का प्रस्ताव दिया गया था, जिन्होंने ट्वीट किया था: “आज, कांग्रेस ने पाकिस्तान के साथ विश्वासघात को खत्म करने के लिए एक अतिरिक्त आवश्यक कदम उठाया।”

पो ने पाकिस्तान को बेनेडिक्ट अरनॉल्ड के एक सहयोगी के रूप में करार दिया, जो कई आतंकवादी संगठनों का समर्थन करता है। उन्होंने तर्क दिया था कि जब से पाकिस्तान आतंकवाद से लड़ने में असफल रहा है, तब से यह अमेरिका की आर्थिक और सैन्य सहायता पाने के योग्य नहीं है। उल्लेखनीय है कि अफगान जासूस एजेंसी के पूर्व प्रमुख रहमतुल्ला नबील के द्वारा खुफिया दस्तावेजों का खुलासा किया गया है, जिससे यह पता चलता है कि अमेरिकी सरकार द्वारा आतंकवाद से लड़ने के लिए पाकिस्तान को दिया जा रहा पैसा देश की खुफिया सेना एजेंसी, ISI द्वारा खर्च की जा रही है जो आतंकवाद को बढ़ावा देने का काम करता है।

दूसरी तरफ, अमेरिकी कांग्रेस ने पाकिस्तान से शकील अफरीदी को रिहा करने को कहा है जिन्होंने एबटाबाद में लादेन की उपस्थिति की पुष्टि की थी। अमेरिकी कांग्रेस ने कहा कि “डॉ. शाकिल अफरीदी एक अंतरराष्ट्रीय नायक हैं और पाकिस्तानी जेल से उन्हें तुरंत रिहा किया जाना चाहिए”।

 




Leave a Reply

Facebook