BREAKING NEWS -
Search




PM मोदी ने ‘सौभाग्य योजना’ को साथ डेढ़ साल में हर घर को रौशन करने का रखा लक्ष्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के सभी घरों तक बिजली पहुंचाने के लिए ‘सौभाग्य’ योजना की को लॉन्च किया। इस दौरान केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मौजूद रहे। सौभाग्य योजना के तहत हर गांव और शहर में हर घर को बिजली मुहैया कराना सरकार का लक्ष्य है। जिनके घर बिजली नहीं पहुंची उनको इस स्कीम के जरिए केंद्र सरकार बिजली की सुविधा देगी। PM मोदी ने ‘सौभाग्य योजना’ को साथ डेढ़ साल में हर घर को रौशन करने का रखा लक्ष्य

PM मोदी ने 'सौभाग्य योजना' को साथ डेढ़ साल में हर घर को रौशन करने का रखा लक्ष्य

इस योजना के लिए केंद्र सरकार 17,000 करोड़ रुपए खर्च कर सकती है। इसके तहत‍ हर घर को 5 एलईडी, एक पंखा और बैटरी दिया जाएगा। इससे 2 से 2.5 करोड़ लोगों को फायदा मिलने की उम्मीद है। बता दें कि सरकार पहले ही 2019 तक हर घर, हर गांव को बिजली पहुंचाने का संकल्प दोहरा चुकी है।

केंद्रीय ऊर्जा सचिव एके भल्ला के अनुसार पीएम मोदी ने 2015 में 1000 दिनों में 18,000 गांवों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य तय किया था। जिसके तहत बीते स्वतंत्रता दिवस तक 10,000 गांवों को बिजली का कनेक्शन मिल चुका है। एके भल्ला ने बताया कि पीएम मोदी ने 2015 में 1000 दिनों में 18,000 गांवों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य तय किया था। जिसके तहत बीते स्वतंत्रता दिवस तक 10,000 गांवों को बिजली का कनेक्शन मिल चुका है।

सौभाग्य योजना के तहत बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, ओडिशा, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान व पूर्वोत्तर राज्य शामिल हैं। सौभाग्य योजना के कुल बजट 16,320 करोड़ रुपये रखा गया है। इसमें सरकारी सहायता के तौर पर 12,320 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। ग्रामीण आवासों में बिजली पहुंचाने पर 14,025 करोड़ और शहरी आवासों पर 1732.50 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

 




Leave a Reply

Facebook